अल्लाह का कोई भी हुक्म नामुमकिन नहीं

अल्लाह का कोई भी हुक्म नामुमकिन नहीं

आज का सवाल नंबर १६३३

अल्लाह का कोई हुक्म ऐसा है जो बन्दों के लिए नामुमकिन हो ?

मसलन कोई कहे के निग़ाह की हिफाज़त मुमकिन नहीं, फुला हुक्म इस तरक़्क़ी और फ़िटने के दौर में मुमकिन नही, उस का ऐसा केहना सहीह है ?

जवाब

حامدا و مصلیا مسلما

अल्लाह तआला हकीम-बड़ी अक़्ल और होश्यारी वाला है।

अल्लाह को मालूम है के मेरे बन्दे क्या करे सकते है और किया नहीं कर सकते  है।

लिहाज़ा अल्लाह का कोई भी हुक्म इंसान की ताक़त से बाहर नहीं।

शरीअत पर अमल हर ज़माने में मुमकिन है।

हुक्म देने से पहले अल्लाह तआला के इल्म में क़यामत तक के हालात थे।

लिहाज़ा शरीअत पर अमल हर दौर में मुमकिन है।

(मोईनुल अक़ाइद सफा ५ से  मलहूज़)

و الله اعلم بالصواب

इस्लामी तारीख़

०३ जुमाद अल उखरा १४४० हिजरी

मुफ़्ती इमरान इस्माइल मेमन

(उस्ताज़े दारुल उलूम रामपुरा, सूरत, गुजरात, इंडिया.)

[button color=”red” size=”big” link=”https://www.aajkasawal.in/subscribe-kare/” icon=”” target=”true”]SUBSCRIBE TO AAJ KA SAWAL[/button]

Leave a Reply